-->
इंसानियत छोड़ दी है इन अस्पतलो ने, हम उठायेंगे आवाज़

इंसानियत छोड़ दी है इन अस्पतलो ने, हम उठायेंगे आवाज़

कोरोना काल में Lucknow के कुछ अस्पतालो ने, जहाँ अपनी जान लगा कर आम लोगों को इस बीमारी से बचाया है, तो वही कुछ अस्पताल एसे है जिन्होंने इस आपदा का फ़ायदा उठाते हुए करोड़ों रुपए कमा लिए है, इन ही मे से एक है गोमती नगर पत्रकारपुरम चौराहे , पर स्थित अस्पताल ,  जहाँ से हमें लगातार एसी ख़बरें सुनने मे आती रहती है। 

मरीज का आरोप है की कोरोना के इलाज के नाम पर इस अस्पताल में अनाप-शनाप बिल वसुला जा रहा है। 




क्या है पुरा मामला - 

ऐशबाग के तिलक नगर निवासी कोरोना मरीज विजय जैन ने बताया कि उन्हें CMO की ओर से गोमती नगर के पत्रकारपुरम चौराहे पर स्थित अस्पताल में भेजा गया। अस्पताल ने कहा कि पहले 40 हजार रुपये दो तो इलाज शुरू होगा। परिवार में किसी तरह इंतजाम कर रुपये जमा कराए। उनका आरोप है कि भोजन की थाली इतनी घटिया थी कि उसे खाना तो दूर देखने का मन भी नहीं करे। शिकायत की तो भी कुछ नहीं हुआ। यह हाल तब है जब आहार विशेषज्ञ से परामर्श के नाम पर भी 1000 रुपये उनसे वसूले जा रहे थे। मरीज के अनुसार दवाइयों और डॉक्टरों की फीस के अतिरिक्त दस्ताने के नाम पर प्रति पीस 1050 रुपये की वसूली की गई। इसके है अलावा अस्पताल से कंबल मांगा तो वो भी नहीं दिया गया। साथ ही जब उन्होंने शिकायत करने की धमकी दी तो उनको अस्पताल से बाहर निकल जाने को बोल दिया गया। बाद में 8 दिन के इलाज मे कुल 1,20,000 रुपए वसूले गए।

आप ये सोच रहे होंगे कि आखिर हम अस्पताल का नाम क्यों नही लिख देते है सीधे सीधे, तो हम आपको बता दे कि ऐसा करते ही ये बड़े बड़े अस्पताल हम लोगो को Defamation का नोटिस भेज देते है जिससे दर कर बाकी मीडिया वाले इनके बारे में खबर दिखाना छोड़ देते है , मगर हमने इसका हल निकलते हुए ये फैसला किया है कि हम आप लोगो को ऐसे अस्पतालों का नाम न बातते हुए , उसके बजाए उस अस्पताल की Location बता देंगे जिससे आप आराम से समझ जाएं।


हमारा प्रयास रहेगा आगे भी हम इस प्रकार की ख़बरों को आप तक पहुँचाते रहे, ताकी ये अवैद वसुली बंद की जा सके। इस ख़बर को ज़्यादा से ज़्यादा Share & Like  करे ताकी इसका प्रभाव डालने मे हम सफल हो।

0 Response to "इंसानियत छोड़ दी है इन अस्पतलो ने, हम उठायेंगे आवाज़"

Post a comment